gk mandi himachal pradesh

मंडी, हिमाचल प्रदेश, सामान्य ज्ञान

दोस्तों प्रतियोगी परीक्षाओं में  हिमाचल प्रदेश की जिला मंडी के बारे में बहुत से सवाल पूछे जाते हैं जो की इस प्रकार हैं

 

मंडी जिले की स्थापना – 15 अप्रैल 1948

क्षेत्रफल – 3950 वर्ग किलोमीटर

साक्षरता दर 82.81 %

विधानसभा – 10

लिंगानुपात – 1012

जनघनत्व – 253

 

भौगोलिक स्थिति :-

 

सबसे ऊँची चोटी नागरू – 4400 मीटर

 

घोघरधार

 

गुम्मा, द्रंग में नमक की खानें स्थित हैं

 

सिकंदर धार

 

बेरकोट धार रिवालसर से शुरू होकर सुकेत (सुंदरनगर) तक जाती है

 

नदियाँ :-

सतलुज नदी :- मंडी में फिरनु गाँव से प्रवेश करती है या शिमला और सोलन के बीच मंडी की सीमा बनाती है

व्यास :- (पंडोह) लारजी के पास मंडी में मिलती हैं

 

झीलें

  1. रिवालसर
  2. पराशर
  3. सुखसर
  4. कलासर
  5. कुन्तभियोग
  6. कमरुनाग
  7. कुमारवाह

वन्य जीव अभ्यारण :-

शिकारी देवी, बांदली, नागरू

सुकेत रियासत

संस्थापक – वीर सेन 765 ई०

राजधानी – पंगाणा

  • वीरसेन ने चम्बा के राजा मुसानवर्मन को पंगाणा की जागीर देकर अपनी पुत्री का विवाह उससे करवाया था
  • वीरसेन ने कुल्लू के राजा – भूपपाल – को हराकर कुल्ल्लू जागीर को अपने अधीन किया था
  • वीरसेन ने सर्वप्रथम कुन्नुधार में अपना निवास स्थान बनाया था
  • वीरकोट दुर्ग की स्थापना वीरसेन ने की थी

 

  • विक्रमसेन :- दो वर्षों तक अपना राजपाट अपने भाई अपने भाई त्रिविक्रमसेन को छोड़कर हरिद्वार तीर्थ यात्रा पर चला गया था, त्रिविक्रमसेन ने कुल्लू के राजा हस्तपाल के साथ मिलकर विक्रमसेन के विरुद्ध षड्यंत्र रचा

विक्रमसेन ने क्योंथल के राजा गिरी सेन की सहायता से – ज्यूरी – में त्रिविक्रमसेन और हस्तपाल को हराया था

 

  • साहुसैन :- साहुसैन का भाई बाहुसैन के साथ मतभेद के कारण 1000 ई० मंडी की रियासत की स्थापना की थी
  • मदनसेन :- गुम्मा और द्रंग नमक खदानों पर कब्ज़ा किया
  • श्यामसेन :- श्यामसेन को नूरपुर के रजा जगत सिंह ने मुगलों की शिकायत पर ओरंगजेब ने दिल्ली में कैद करके रखा, श्यामसेन ने महुंनाग से कैद मुक्ति की प्रार्थना की तथा 400 रूपए वार्षिक कर पर महुंनाग मंदिर को जागीर दान में दे दी
  • श्यामसेन के बेटे रामसेन ने रोपड़ पंजाब की स्थापना की थी इसने रामगढ़ दुर्ग माधोपुर में बनवाया
  • गरुड़सेन :- सुंदरनगर बनेर शहर की स्थापना की थी
  • गरुड़सेन की रानी ने सूरजकुंड मंदिर का निर्माण करवाया
  • सुंदरनगर को सर्वप्रथम राजधानी विक्रमसेन ने बनाया था
  • 1752 में अहमदशाह दुर्रानी ने सुकेत पर कब्ज़ा किया तथा 1758 में अदिनाबेग ने सुकेत पर कब्ज़ा किया तथा 1758 में ही जस्सा सिंह रामगढ़िया ने सुकेत पर सिख राज्य की स्थापना की थी
  • विक्रमसेन 2 – सुंदरनगर को अपनी राजधानी बनाया ….. 1809 में महाराजा रणजीत ने सुकेत को अपने अधीन किया विक्रमसेन के रियासत के बजीर नरपत से अच्छे सम्बन्ध ना होने के कारण वह 1786-1792 महलमोरियो (हमीरपुर) में रहे विलियम मुरक्राफ्ट 1820 में H.P. आए
  • नरपत वजीर की हत्या बंटवारा किले में हुई थी
  • उग्रसेन :- 1839 में विगने ने सुकेत की यात्रा की 1846 में अंग्रजों के अधीन आ गया था उग्रसेन ने इमला विमला घाटी में Shiv Temple की स्थापना की
  • ईश्वरीयसेन :- 12 वर्षों तक संसार चंद ने नादौन किले में बंधी बनाकर रखा था – विलियम मुरक्राफ्ट 1820 में Mandi की यात्रा की
  • बलवीरसेन :- 1839 में राजा बने महाराजा रणजीत सिंह के पोते नौनिहाल सिंह ने 1840 ई0 में जनरल वंचुरा (फ्रांसिसी) के साथ मिलकर मंडी के कमलागढ़ किले पर कब्ज़ा किया तथा बलवीर सिंह को कैद कर अमृतसर के गोविन्दगढ़ किले में कैद कर लिया था
  • 9 मार्च 1846 में मंडी अंग्रेजों के अधीन आ गया था
  • विजयसेन :-  विजयसेन वजीर गसोण और मियां भागसिंह की देख-रेख में राजा बना Mr. कलकी को इसका शिक्षक चुना गया, 1872 में पालमपुर दरबार हाल में भाग लिया, 1874 में सर हेनरी डेविस Mandi की यात्रा पर आए, 1877 में विक्टोरिया पुल का निर्माण किया, 187 7 दिल्ली दरबार में भाग लिया, 1881 ऊहल नदी पर
  • 1883 चार्ल्स एचिंसन मंडी आए
  • 1877 विक्टोरिया पुल का निर्माण किया
  • लार्ड एल्गिन फर्स्ट 1862 में धर्मशाला दफनाए गए थे
  • 1899 लार्ड एल्गिन द्वितीय मंडी आए
  • 1906 में लाला लाजपत राय मंडी आए थे
  • 1901 में पादाजीवनानंद को जोधपुर से बुलाकर बजीर नियुक्त किया तथा रायबहादुर की उपाधि प्रदान की गई
  • 1909 मंडी विद्रोह शोभायाय क्रांतिकारी
  • भवानी सेन – 1906 में दरबार हॉल बनाया 1911 में दिल्ली दरबार में भाग लिया

 

  • जोगिन्द्रसेन – Mandi रियासत का अंतिम राजा था, झटीगरी महल का निर्माण किया था
  • पठानकोट जोगिंदरनगर रेलवे लाइन का निर्मा 1926 में हुआ – Asia की पहली रेलगाड़ी – लम्बाई – 113 किलोमीटर 1929 में पहली रेलगाड़ी चली थी
  • एशिया की सबसे पुरनी जल बिद्युत परियोजना – शानन पॉवर प्रोजेक्ट – इंजीनियर – BC बेटी1926 में स्थापित हुई और 1933 में लागु हुई इसका उद्घाटन वायसराय लार्ड विलिंपटन ने 1933 में किया था
  • मंडी के नंगवाई में भेड़ प्रजनन केंद्र हैं तथा जरोल में HPMC सेब प्रंस्करण ईकाई है
  • मंडी के कमांद और करसोग में जर्सी गायों के प्रजनन केंदर स्थापित किए गए हैं
  • गुम्मा, द्रंग में नमक  की खानें हैं

 

मेले :-

  • शिवरात्रि
  • महुंनाग
  • सकोडी मेला
  • छेच्शु मेला – Rewalsar

मंडी रियासत

संस्थापक – बाहूसेन (1000 ई० पू०)

राजधानी – हाट (कुल्लू)

 

बाणसेन – 11वीं पीढ़ी के राजा करंचन सेन 1278 ई०पू० की हत्या कुल्लू के राजा द्वारा की गई जिससे करंचन सेन की पत्नी अपने पिता के अधिकार क्षेत्र की तरफ भागकर सियोकोट मंडी बाण ओक के पेड़ के निचे पुत्र को जन्म दिया जिसका नाम बाणसेन रखा गया, बाणसेन ने भ्युली (मंडी) को अपनी राजधानी बनाकर 14वीं शताब्दी में मंडी रियासत की स्थापना की

नोट – बाणसेन को मंडी रियासत का वास्तविक संस्थापक कहा जाता है

 

Books

History of Mandi – Vikram Kaysath

History of Mandi State Manmohar Singh

 

  • तातापानी – करसोग
  • कृषक परिक्षण केंद्र – सुंदरनगर
  • दिव्यंगों के लिए आईटीआई – सुंदरनगर
  • दुल्ची दर्रा मंडी और कुल्लू के बीच में है
  • रक्षाबंधन – सलुणु मंडी
  • लोकनाटक – बांठणा (जौ)
  • लोकगीत – मनीरामा पटवारिया, निरमंड की बाम्हणीये, ना मनेया, ओ हंसा
  • Total Temple – 81
  • लोमश ऋषि मंडी – रिवालसर
  • रानी कोटि दुर्ग – महाराजा सेवंत सेन
  • मंडी पठानकोट – NH – 154 OLD  NAME – N.H. 20
  • H.P. का पहला संगीत Studio ” Sounds of Mountain ” 1986 में मंडी जिले में स्थापित हुआ
  • H.P. का सबसे पुराना कॉलेज वल्लभ कॉलेज मंडी
  • IIT कमांद – मंडी – 2009
  • देश का पहला सूक्ष्म T.V. तरंग  टावर Mandi (Ahju)
  • H.P. की सबसे छोटी कृत्रिम झील – पंडोह (14 किलोमीटर)
  • 1934 में Mandi पंचायती राज लागु करने वाला प्रदेश का पहला जिला था
  • Mandi में पहली विधानपरिषद का गठन – 1939
  • Mandi प्रजामंडल – 1936
  • बस्सी पॉवर प्रोजेक्ट – 60 mv
  • चूल्हा – 15 mv

 

 

 

 

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!